Flipkart Co-Founder बिन्नी बंसल ने अपना बचा हुआ हिस्सा फ्लिपकार्ट में बेच दिया और कंपनी के बोर्ड से इस्तिफा दे दिया।

Flipkart की शुरुआत, बंसल भाइयों ने छोटे से कमरे से शुरुआत की और Flipkart (वॉलमार्ट फ्लिपकार्ट डील) को ऊंचाईयों पर पहुंचाया।

-Pexels |

सचिन और बिन्नी बंसल ने लगभाग 15-16 साल पहले मिल कर फ्लिपकार्ट की स्थापना की थी।

Binny Bansal का अगला उद्यम: OpDoor और E-Commerce का भविष्य:

बिन्नी बंसल अब अपना पूरा ध्यान OpDoor कंपनी पर देंगे। बिन्नी का फैसला बोर्ड से हटने का तब आया जब उन्होंने कुछ महीनो पहले अपना पूरा हिस्सा  बेच दिया था।

बिन्नी बंसल ने कहा, “मैं 15 सालों के दौरान फ्लिपकार्ट ग्रुप के उपलबधियों पर गर्व करता हूं।  फ्लिपकार्ट एक मजबूत स्थिति में है। मैंने कंपनी को छोड़ने का फैसला किया है जानता हूं की कंपनी सुरक्षित हाथों में है।”

आभार और विदाई: बिन्नी बंसल के बाहर निकलने पर Flipkart की प्रतिक्रिया:

Flipkart ke Executive Vice President, ने कहा कि बिजनेस के निर्माता के रूप में, बिन्नी बंसल को ज्ञान और अनुभव का एक विशेष मिश्रन लाता है। हमें खुशी है कि वे 2018 में वॉलमार्ट के निवेश के बाद भी बोर्ड में बने रहें। उनकी सलाह से हम बहुत फ़ायदा उठाये। Flipkart CEO कल्याण कृष्णमूर्ति ने कहा, “हम बिन्नी के  आभारी  हैं।”

बिन्नी बंसल का इस्तीफा और हिस्सेदारी बिक्री:

बिन्नी बंसल ने अपना हिसा बेचकर $1.5 बिलियन कमाया। मई 2018 में, वॉलमार्ट ने 5 साल बाद फ्लिपकार्ट में 77 प्रतिशत की हिस्सेदारी के 16 बिलियन डॉलर के दाम में खरीद के बाद फैसला किया था।

वॉलमार्ट के साथ के अनुकूल समझौता 2023 में ख़त्म हो जाएगा, पांच साल बाद। अब बिन्नी बंसल को ई-कॉमर्स सेक्टर में नई शुरुआत की संभावना है।

आगे की राह: OpDoor के साथ बिन्नी बंसल का E-Commerce विजन:

बिन्नी बंसल की नई कंपनी OpDoor e-Commerce Companies को अंत से अंत की सुविधा प्रदान करके उन्हें ग्लोबल स्टार पर काम करने में मदद करेगी।

ये डिजाइन , मानव संसाधन और ई-कॉमर्स कंपनियों को सहायता प्रदान करेगी। Opdoor शुरू में ई-कॉमर्स कंपनियों पर फोकस करेगी जो यूएस, कनाडा, सिंगापुर, ऑस्ट्रेलिया etc में हैं।